fbpx Press "Enter" to skip to content

आंध्र के विशाखापत्तनम में रसायन संयंत्र में गैस रिसाव से 11 लोगों की मौत

विशाखापत्तनमः आंध्र प्रदेश के विशाखापत्तनम में गुरुवार तड़के एक रसायन संयंत्र में

जहरीली गैस रिसाव की घटना में आठ साल के बच्चे सहित कम से कम 11 लोगों की दम

घुटने से मौत हो गई और 200 से अधिक लोगों यहां विभिन्न अस्पतालों में भर्ती कराया

गया। केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री जी किशन रेड्डी ने गोपालपटनम इलाके के पास एलजी

पॉलीमर्स रसायन संयंत्र में एक गैस के रिसाव से पांच लोगों की मौत ही पुष्टि की है। सूत्रों

ने बताया कि शहर के किंग जॉर्ज अस्पताल (केजीएच) में इलाज के दौरान सभी पांचों की

मौत हो गई। गैस रिसाव की सूचना मिलने के बाद एम्बुलेंस, अग्निशमन की गाड़यिां और

पुलिसकर्मी रसायन संयंत्र में पहुंच गए हैं। प्रारंभिक रिपोर्ट के अनुसार संयंत्र से जहरीली

गैस लगभग तीन किलोमीटर के दायरे में फैल गई है। गैस के रिसाव से कम से कम पांच

गांव प्रभावित हुए हैं। इस जहरीली गैस के चपेट में आने से 200 से अधिक लोग अचेत हुए

हैं जिन्हें शहर के विभिन्न अस्पतालों में भर्ती कराया गया है।


सूत्रों के मुताबिक संयंत्र से तीन किलोमीटर के दायरे में जहरीली गैस के फैल जाने से आर

आर वेंकटपुरम, पदमापुरम, बी सी कॉलोनी और कमपारापलेम सहित पांच गांव प्रभावित

हुए हैं। जहरीली गैस से प्रभावित गांवों को खाली करा लिया गया है। उन्होंने बताया कि

गैस संयंत्र के आसपास के सैंकड़ों लोगों को आंखों में जलन और सांस लेने में तकलीफ,

सिर दर्द और उल्टी होने पर अस्पताल पहुंचाया गया। जहरीली गैस के संपर्क में आने से

कई गाय, कुत्ते और अन्य जानवारों की भी मौत हो गई हैं। ग्रेटर विशाखापत्तनम नगर

निगम ने ट्वीट किया, ‘‘गोपालपटना में एलजी पॉलिमर में गैस रिसाव हुआ है।


आंध्र के गैस रिसाव के बाद इलाका खाली कराया गया


इन स्थानों के आसपास रहने वाले नागरिकों से अनुरोध है कि वे सुरक्षा कारणों से घर से

बाहर न निकलें।’’ अधिकारियों ने कहा कि रिसाव का सही कारण अभी तक पता नहीं चल

पाया है। राष्ट्रीय आपदा मोचन बल और राज्य आपदा मोचन बल की टीमों को प्रभावित

इलाकों में तैनात कर दिया है और बचाव अभियान अभी जारी है। आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री

वाई एस जगनमोहन रेड्डी स्थिति का जायजा लेने के लिए विशाखापत्तनम रवाना होने

वाले हैं।

मोदी ने गैस रिसाव की घटना की जानकारी लीआंध्र के विशाखापत्तनम में रसायन संयंत्र में गैस रिसाव से 11 लोगों की मौत

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गृह मंत्रालय और राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के

अधिकारियों से बात आन्ध्र प्रदेश के विशाखापतनम में गैस रिसाव की घटना की

जानकारी ली है और प्रभावित क्षेत्र के सभी लोगों की सुरक्षा और कुशलता की कामना की

है। उन्होंने इस बारे में आपदा प्रबंधन अधिकारियों की एक बैठक भी बुलाई है। श्री मोदी ने

ट्विट कर कहा , ‘‘ विशाखापतनम की स्थिति के बारे में गृह मंत्रालय और एनडीएमए के

अधिकारियों के साथ बात की । वहां की स्थिति पर निरंतर नजर रखी जा रही है। मैं

विशाखापतनम में सभी की सुरक्षा और कुशलता के लिए प्रार्थना करता हूं। ’’ प्रधानमंत्री

कार्यालय ने भी ट्विट कर कहा है कि श्री मोदी ने गैस रिसाव की घटना पर आपदा प्रबंधन

प्राधिकरण के अधिकारियों की बैठक बुलायी है। विशाखापत्तनम में गुरूवार तड़के एक

रसायन संयंत्र में जहरीली गैस के रिसाव के कारण आठ साल के बच्चे सहित कम से कम

पांच लोगों की दम घुटने से मौत हो गई और 200 से अधिक लोगों यहां विभिन्न

अस्पतालों में भर्ती कराया गया।

गृह मंत्रालय की गैस रिसाव घटना पर कड़ी नजर: अमित शाह

केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने आन्ध्र प्रदेश के विशाखापतनम में गैस रिसाव के कारण

कुछ लोगों की मौत को बेचैन करने वाली घटना करार देते हुए कहा है कि गृह मंत्रालय इस

पर निरंतर नजर रखे हुए है और उन्होंने स्वयं भी इस बारे में अधिकारियों से बात की है।

श्री शाह ने आज ट्विट कर कहा , ‘‘ विशाखापतनम की घटना बेचैन करने वाली है। मैंने

एनडीएमए के तथा अन्य संबंधित अधिकारियों से बात की है। हम स्थिति पर निरंतर कड़ी

नजर रखे हुए हैं। मैं विशाखापतनम के लोगों की कुशलता के लिए प्रार्थना करता हूं। ’’

केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री जी किशन रेड्डी ने भी कहा है कि उन्होंने केन्द्रीय गृह सचिव

अजय भल्ला से बात कर उन्हें राज्य सरकार का हर संभव सहयोग करने को कहा है। श्री

रेड्डी ने ट्विट कर कहा कि गैस रिसाव की असाधारण और दुर्भाग्यपूर्ण घटना में

विशाखापतनम में सैकड़ों लोग प्रभावित हुए हैं और उन्होंने इस बारे में श्री भल्ला से बात

कर उन्हें राज्य सरकार की हर संभव मदद करने का अनुरोध किया है जिससे लोगों की

दिक्कतों को दूर किया जा सके। इस घटना में मारे गये लोगों के परिजनों के प्रति संवदेना

प्रकट करते हुए उन्होंने कहा है कि इस बारे में राज्य के मुख्य सचिव और पुलिस

महानिदेशक से भी उन्होंने बात की है तथा स्थिति का जायजा लिया है। उन्होंने कहा कि

राष्ट्रीय आपदा मोचन बल को भी जरूरी राहत उपाय करने को कहा गया है। गृह राज्य

मंत्री ने कहा है कि वह स्थिति पर निरंतर नजर रखे हुए हैं।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

One Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!