fbpx Press "Enter" to skip to content

11 विदेशी मौलवियों को गुप्त सूचना पर पुलिस ने जांच के लिए भेजा

  • चीन सहित कई देशों से कल ही पहुंचे थे इस इलाके में

  • गुप्त सूचना के आधार पर पुष्टि के लिए पहुंची पुलिस

  • जांच के बाद सभी को मुसाबनी में रखा जाएगा

  • कैसे भारत आये और कैसे यहां पहुंचे का पता नहीं

संवाददाता

रांचीः 11 विदेशी मौलवियों के टिके होने की सूचना पर रांची पुलिस ने कार्रवाई की। यह 11

विदेशी लोग तमाड़ में पाये गये। इन सभी को वहां छिपाकर रखा गया था। जानकारी

मिलने के बाद पुलिस वहां पहुंची। बुंडू डीएसपी को सूचना मिली थी कि चीन और अन्य

देश के कुछ मौलवी तमाड़ थाना क्षेत्र के रड़गांव के पास एक मस्जिद में रुके हैं। सूचना पर

डीएसपी बुंडू ने सत्यापन हेतु तमाड़ थाना को गांव भेजा साथ में बीडीओ थे। जांच के दौरान

वाकई इस गांव में मस्जिद में 11 विदेशी मुस्लिम पाये गये। कोरोना वायरस के मद्देनजर

जारी निर्देशों के तहत इन्हें तुरंत वहां से हटाया गया। सभी को वहां से हटाते हुए

आइसोलेन के लिए मुसाबनी स्थित कांस्टेबल ट्रेनिंग स्कूल भेजा गया है। डीएसपी अजय

कुमार ने बताया की सभी का कागजात जांच की जा रही है। उन्होंने बताये की 11 विदेशी

जो है चीन, कजाकिस्तान और किर्गिस्तान का है। पुलिस मामले की जांच भी कर रही है।

सभी का वीजा पासपोर्ट जब्त किया गया है। वैसे मुसाबनी भेजे जाने के बाद ही पुलिस को

उनके आइसोलेशन से पहले मेडिकल जांच का निर्देश प्राप्त हुआ था।

11 विदेशी मौलवियों की जांच पहले करायी जाएगी

इस निर्देश के तहत सभी 11 विदेशी मौलवियों को मेडिकल जांच के लिए सीधे एमजीएम

अस्पताल भेज दिया गया हैं। वहां जांच पूरी होने के बाद उन्हें आइसोलेशन में भेज दिया

जाएगा। मिली जानकारी के मुताबिक यह सभी लोग कल ही तमाड़ के रड़गांव पहुंचे थे।

इस पूरी प्रक्रिया के दौरान किस व्यक्ति ने उन्हें यहां शरण दी थी अथवा अपने देश से ये

लोग कैसे रांची के इस इलाके में पहुंचे, इस बारे में अब तक कोई जानकारी नहीं मिल पायी

है। लेकिन इतने सारे विदेशियों के भारत में ऐसे इलाके तक पहुंचने को गंभीर चूक माना

जा रहा है। कोरोना संबंधी एहतियात पूरी कर लेने के बाद संभवतः इसके आगे की जांच

और कार्रवाई की जाएगी।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from विधि व्यवस्थाMore posts in विधि व्यवस्था »

One Comment

Leave a Reply

Open chat
Powered by