Press "Enter" to skip to content

भोपाल में गणपति विसर्जन के दौरान नाव पलटने से 11 मरे




भोपालः भोपाल में गणपति विसर्जन के दौरान आज तड़के लगातार बारिश के बीच आपस में जुड़ी हुईं

दो नाव पलटने से उसमें सवार डेढ दर्जन से भी ज्यादा लोगों के डूबने के बाद

अब तक 11 लोगों के शव बरामद किए जा चुके हैं।

प्रत्यक्षदर्शियों के हवाले से बताया जा रहा है कि नाव में करीब 19 लोग सवार थे।

उनमें से छह लोगों को राहत दल ने सुरक्षित बाहर निकाल लिया।

राज्य आपदा प्रबंधन दस्ता (एसडीआरएफ) अब दो और लोगों की तलाश में जुटा हुआ है।

मौके पर मौजूद विधि मंत्री पी सी शर्मा ने संवाददाताओं को बताया कि नाव में

एक पूरी उत्सव समिति के सदस्य सवार थे।

वे जैसे ही बड़ी मूर्ति का विसर्जन करने लगे, नाव अचानक पलट गई।

मरने वाले सभी 11 लोग नवयुवक थे। छह लोग बचा लिए गए हैं।

स्थानीय खटलापुरा पर हुए हादसे में जिला प्रशासन ने सभी मृतकों के परिजन को

चार-चार लाख रुपए का मुआवजा देने की घोषणा की है।

सभी शव स्थानीय हमीदिया अस्पताल ले जाए गए हैं।

नाव से सुरक्षित बचाए गए लोगों को भी उपचार के लिए भर्ती कराया गया है।

भोपाल में हुए इस हादसे पर कमलनाथ सहित कई ने दुख जताया

मौके पर मौजूद एसडीआरएफ सूत्रों ने गोताखोरों के हवाले से बताया कि करीब 20 फीट की गहराई पर दो नावें आपस में बंधी हुई उल्टी हालत में बरामद हुईं हैं।

उन्हें क्रेन की मदद से निकाला जा रहा है। उन नावों में शेष लोगों के फंसे होने की आशंका हो सकती है।

उन्होंने बताया कि झील में गहराई पर गणेश प्रतिमाएं, कीचड़ और बांस समेत अन्य अवशेषों के चलते

गोताखोरों को शेष दो लोगों की तलाश में खासी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

भोपाल में गणपति विसर्जन के दौरान हुए इस हादसे पर मुख्यमंत्री कमलनाथ सहित

कई प्रमुख नेताओं ने शोक व्यक्त किया है।

इस क्रम में मुख्यमंत्री ने कहा है कि इस घटना की मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दे दिये गये हैं।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •   
  •  
  •  
More from Hindi NewsMore posts in Hindi News »

Be First to Comment

Leave a Reply