Press "Enter" to skip to content

सैनिक सत्ता ने नेताओं को 75 से 90 साल की सजा दी




बैंकॉकः सैनिक सत्ता ने म्यांमार में फिर से राजनीतिज्ञों को दबाने का अपना काम चालू कर दिया है। इस बार वहां के दो ऐसे नेताओं को सजा सुनायी गयी है जो हटायी गयी आंग सान सू की पार्टी में थे। इन दोनों को 75 से 90 साल कैद की सजा सुनायी गयी है। मंगलवार की वहां की अदालत ने दोनों को भ्रष्टाचार के आरोप में यह सजा सुनायी है। सू की कि नेशनल लीग फॉर डेमोक्रेसी के खिलाफ सैनिक सत्ता का यह दमन चक्र अब लगता है ज्यादा तेज होने लगा है।




इसके पूर्व सत्ता पर कब्जा करते वक्त सैन्य जनरलों ने वहां शीघ्र ही चुनाव कराने की बात कही थी। जब हथियारबंद नागरिकों ने सेना के खिलाफ हथियार उठा लिये तो फिर से शांति का संदेश दिया गया था। अब अदालती फैसलों से यह स्पष्ट होता जा रहा है कि म्यांमार की सैनिक सत्ता अभी कब्जा बनाये रखना चाहती है।

राज्य के पूर्व योजना मंत्री थान नेयिंग को अदालत की तरफ से भ्रष्टाचार के छह मामलो में 90 साल के कैद की सजा सुनायी गयी है। उन्हें भी गत एक फरवरी को सत्ता पर कब्जा करने के लिए गिरफ्तार कर लिया गया था। राज्य के केयिन राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री नान खीन हात्वे माइंट को 15 साल की जेल हुई है।




सैनिक सत्ता ने आंन सू के खिलाफ भी दर्ज किया है मामला

अब तो वहां आंग सान सू के खिलाफ भी भ्रष्टाचार का मामला दल रहा है। वैसे सैनिक सत्ता का विरोध करने वालों का मानना है कि देश की लोकतांत्रिक व्यवस्था पर कब्जा करने वाली सैनिक जनरलों ने फर्जी मामलों से ऐसे नेताओं को दंडित कर जनता की आवाज को दबाने की साजिश रची है।

इन सूचनाओं के बीच हथियारबंद नागरिकों द्वार देश के कई हिस्सों मे सशस्त्र विद्रोह करने की सूचनाओं भी अब अधिक मिलने लगी हैं। इसी नाराजगी में सैनिकों ने कई इलाकों में आम नागरिकों पर भी हमला किया है तथा घनी आबादी वाले इलाकों में गोले भी बरसाये हैं।



More from HomeMore posts in Home »
More from अदालतMore posts in अदालत »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »

Be First to Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.
%d bloggers like this: