fbpx Press "Enter" to skip to content

सीबीआई ने उड़ान घोटाले में दो के खिलाफ केस दर्ज किया

रासबिहारी

नईदिल्लीः सीबीआई ने एयरपोर्ट ऑथरिटी ऑफ इंडिया के दो अधिकारियों

के खिलाफ भी मामला दर्ज किया है। इन दोनों पर वहां आरोप है, जिसकी

जांच पूर्व केंद्रीय मंत्री प्रफुल्ल पटेल के खिलाफ चल रही है। इनपर आरोप है

कि दो निजी कंपनियों को बेहतर स्थान प्रदान करने के लिए इन अधिकारियों

ने अपने पद का दुरुपयोग किया है। जिन अधिकारियों के खिलाफ सीबीआई

ने मामला दर्ज किया है, उनमें प्रवीण कुमार कनौजिया और एजाज अब्दुल्ला

हैं। इनमें से कनौजिया वहां के व्यापारिक मैनेजर थे जबकि अब्दुल्ला

वहां के बिजली विभाग का कनीय कर्मचारी है। दोनों श्रीनगर में

पदस्थापित हैं। आरोप है कि पीके ग्लोबल प्राइवेट लिमिटेड के वाइस

प्रेसिडेंट वीरेंद्र अग्रवाल और कुछ अन्य लोग भी इसी जांच के दायरे में

आ चुके हैं।

दोनों ही आरोपी श्रीनगर हवाई अड्डे पर पदस्थापित हैं

उल्लेखनीय है कि पूर्व नागरिक उड्डयन मंत्री प्रफुल्ल पटेल पर उस दौर

के नागरिक उड्डयन सचिव और वर्तमान में मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील

अरोरा ने यह शिकायत की थी कि एयर इंडिया को डूबाने की साजिश

रची गयी थी। इससे निजी विमान कंपनियों को लाभ पहुंचाया गया है।

आरोप है कि दोनों अधिकारियों ने इस निजी कंपनी के साथ मिलकर हवाई

अड्डे के दुकान आवंटन में भी गड़बड़ी की है। इसकी वजह से एयरपोर्ट

ऑथरिटी को करीब 26 करोड़ का नुकसान सिर्फ स्थान आवंटन में गड़बड़ी

की वजह से हुआ है। अब तक उपलब्ध साक्ष्यों के मुताबिक एयरपोर्ट पर

स्थान प्रदान करने के लिए आवश्यक बैंक गांरटी तक नहीं ली गयी।

टेंडर के नियमों का पालन नहीं करने के साथ साथ इनलोगों ने बकाया

वसूली के लिए भी कोई प्रयास नहीं किया। इसी तरह एक निजी कंपनी को

वहां के विशेष लाउंड की जिम्मेदारी पांच साल के लिए सौंप देने से भी

एयरपोर्ट ऑथरिटी को नुकसान हुआ है। यहां तक कि किराया नहीं देने

वालों से किराया वसूलने और स्थान खाली कराने की भी कोई पहल नहीं

करने की वजह से इसे भ्रष्टाचार के दायरे में माना गया है।

सीबीआई ने गड़बड़ी के साक्ष्य भी एकत्रित किये हैं

उल्लेखनीय है कि प्रफुल्ल पटेल पर पहले से ही इस बात की जांच चल रही

है कि उन्होंने निजी विमान कंपनियों को लाभ पहुंचाने के लिए एयर इंडिया

को घाटा पहुंचाने का काम किया है। जिन रूटों पर एयर इंडिया को ज्यादा

मुनाफा हो सकता है, उन रूटों पर से एयर इंडिया को उड़ाने की अनुमति देने

से रोका गया। वर्तमान मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोरा ने विभागीय

सचिव रहते वक्त कैबिनेट सचिव को इस बात की लिखित शिकायत की थी।

जिसमें यह बताया गया कि इस काम का विरोध करने की वजह से विभागीय

मंत्री और उनके ओएसडी केएन चौबे (झारखंड के वर्तमान डीजीपी) उन्हें

धमका भी रहे हैं। अब इस मामले की जांच में प्रफुल्ल पटेल से पूछ ताछ

हो रही है।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from घोटालाMore posts in घोटाला »

4 Comments

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Open chat