रिम्स अस्पताल में पैसे लेकर बदली जाती है पोस्टमार्टम रिपोर्ट

अस्पताल के प्रबंधन पर हमेशा ही कई सवाल खड़े करते हैं।

रिम्स अस्पताल की संवेदनहीनता इन दिनों आम बात हो गई है। कभी मरीज को फर्श पर खाना दे देना, तो कभी गार्ड द्वारा महिला को पैरो से मारना,

तो कभी लिफ्ट के इंतजार में गर्भवती की तड़प-तड़प कर मौत हो जाना, रिम्स प्रबंधन पर कई सवाल खड़े करते हैं।
ऐसा ही एक और मामला रिम्स में सामने आया जब रिम्स के कारगुजारी ने पूरे समाज को शर्मशार कर दिया। धरती के भगवान कहे जाने वाले डॉक्टरों ने मुर्दा से भी पैसा वसूल लिया। गौरतलब है कि कांके प्रखंड के बाढ़ू स्थित बरवाटोली गांव का रहने वाला अनिल उड़ांव की मौत कुआं में डूब जाने से हो गई। मृतक अपने पारिवारीक शादी में शामिल होने के लिए बोड़ेया के अरसंडे गांव गया हुआ था, जहां यह घटना घटी।मृतक के परिजन नंदा उड़ांव ने कहा कि रिम्स के पोस्टमार्टम हाउस में लाश लेने के लिए गया हुआ था। पोस्टमार्टम हाउस में ड्यूटी पर तैनात कर्मचारियों ने पहले 20 हजार रुपए की मांग की। परिजन ने जब पैसा मांगने का कारण पूछा, तो पोस्टमार्टम हाउस का कर्मचारी ने कहा तुम्हारा आदमी शराब के नशे में मरा है। पोस्टमार्टम के दौरान उसके पेट में अल्कोहल पाया गया है। अगर रिपोर्ट में शराब की बात रहेगी तो एलआईसी के पैसे नहीं मिलेंगे। यह बात कहते हुए उसने 20 हजार रुपए का मांगा। जब परिजनों ने इतने पैसे देने में असमर्थता जताई तो बात 12 हजार पर फाइनल हुआ।

उसके बाद पैसे का भुगतान की बात स्वीकार करने के बाद मात्र आधे घंटे में पोस्टमार्टम कर शव को सौंप दिया गया। परिवार के लोग शव को लेकर अपने घर चले गए। इस बात की जानकारी जब ईनाडु इंडिया की टीम को मिली तो हमारी टीम ने पड़ताल की जिसके बाद ये कहानी सामने आई।

Please follow and like us:

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.