fbpx Press "Enter" to skip to content

रांची-टाटा फोरलेन पर हमेशा एक्सीडेंट का खतरा बरकरार

तमाड़ः रांची-टाटा फोरलेन मार्ग पर डोड़ेया के समीप सड़क क्रासिंग पर कभी भी बड़ी

दुर्घटना हो सकती है। वहां पर पूर्व में कई बार दुर्घटना हो भी चुकी है। क्रासिंग के चलते एक

ट्रेलर दुसरे छोर से आ रही वाहन को बचाने के दौरान एक घर में जा घुसा था। घर के लोग

बाल – बाल बचे थे। दूसरी घटना एक ट्रक नें सड़क में लगे सिग्नल को तोड़ते हुए सड़क में

बने डिभाईडर को तोड़ डाला था। वही रांची-टाटा फोरलेन को जोड़ने वाली एन एच सड़क

जो खूंटी ,सिमडेगा,राउकेला होते हुए बम्बई को जोड़ने वाली मुख्य सड़क है जिसमें रोज

भारी वाहनों का आवागमन होता है । वही रांची – टाटा मार्ग पर डोड़ेया के समीप छोटे से

क्रासिंग बनाकर छोड़ दिया गया है। जिससे भारी वाहनों चालको द्वारा इस जगह पर

वाहनों को घूमाने को लेकर भारी कठिनाईयों का सामना करना पड़ता है। चालको को डर

लगा रहता है कि कोई वाहन तेज गति में आकर वाहन को ठोक ना दे । वही ग्रामीणों का

कहना है कि यह दूसरे राज्य को जोड़ने वाला यह मुख्य सड़क है। जिसमे फ्लाईओवर का

निर्माण होना चाहिए था लेकिन नहीं बना।

रांची-टाटा फोरलेन अनेक वर्षों में नहीं बन पाया

झारखंड के इस अन्यतम प्रमुख राष्ट्रीय राजमार्ग की दशा काफी पहले से टेंडर होने के बाद

भी राजनीतिक कारणों से पूरा नहीं हो पाया। इस सड़क का टेंडर जब निकला था जब

अर्जुन मुंडा झारखंड के मुख्यमंत्री हुआ करते थे। उसके बाद हुए चुनाव में श्री मुंडा के

पराजित होने की वजह से रघुवर दास को भाजपा की तरफ से झारखंड का मुख्यमंत्री

बनाया गया था। रघुवर दास भी पांच साल तक इस राज्य के मुख्यमंत्री रहे। उसके बाद

पिछले साल के चुनाव में उनके पराजित होने तथा भाजपा के मुकाबले झामुमो के

गठबंधन को अधिक सीट आने की वजह से अब हेमंत सोरेन मुख्यमंत्री हैं।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from झारखंडMore posts in झारखंड »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from राज काजMore posts in राज काज »
More from व्यापारMore posts in व्यापार »

Be First to Comment

Leave a Reply

... ... ...
%d bloggers like this: