मॉनसून का असर मिजोरम-मणिपुर में बाढ़,काजीरंगा में बाढ़ का घुसा पानी

भूपेन गोस्वामी
गुवाहाटी: मॉनसून का असर समूचे उत्तरी पूर्वी भारत के राज्यों पर हो गया है।

मॉनसून की बारिश प्रारंभ होते ही कई राज्य बाढ़ की चपेट में आ गये हैं।

कई बड़े शहरों के भीतर भी पानी जमा हो गया है। इससे जनजीवन बाधित हो चुका है।

मॉनसून की पहली बारिश के इस झटके में अब तक करीब एक हजार लोगों को सुरक्षित स्थानों पर हटाया गया है।

मिली जानकारी के मुताबिक मिजोरम के लेंगपुई और आइजॉल में बाढ़ का पानी लगातार ऊपर आ रहा है।

दूसरी तरफ मणिपुर के भी कई इलाके डूब गये हैं।

लेंगपुई में बाढ़ के पानी के अलावा मिट्टी के धसान की वजह से ही कई जगह सड़कें बह चुकी हैं।

दोनों ही राज्यों के अनेक स्कूलों में अवकाश घोषित कर दिया गया है।

कीचड़ आने की वजह से लेंगपुई हवाई अड्डे को भी बंद कर दिया गया है।

कई इलाकों में भारी बारिश की वजह से बिजली भी गुल हो गयी है।

मॉनसून की बारिश से काजीरंगा के गांव घिरे

मॉनसूनबाढ़ का यह पानी असम के काजीरंग वन्य प्राणी आश्रयणी में भी घुस गया है।

इस क्षेत्र के अनेक गांव इसकी चपेट में आ गये हैं।

समझा जाता है कि तेज बहाव की वजह से पानी रोकने के लिए बने एक स्विस गेट के टूट जाने की वजह से बाढ़ का पानी पूरे इलाके में फैल गया है।

इसी तरह एनएच 37 के काफी बड़ा इलाका पानी में डूब गया है।

इस वजह से इस राजमार्ग पर यातायात बाधित हो गया है।

वैसे इस प्रारंभिक बाढ़ में अब तक काजीरंगा में किसी जंगली जानवर के मरने की सूचना अब तक नहीं आयी है।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.