बांग्लादेश से म्यांमार लौटा पहला रोहिंग्या परिवार

यह परिवार रखाइन प्रांत के तौंगप्योलवेई कस्बे में शनिवार सुबह लौट आया।

0 104
बांग्लादेश में रह रहे सात लाख रोहिंग्या शरणार्थियों में से शनिवार को एक परिवार म्यांमार लौट आया।

म्यांमार सरकार ने अपने अधिकारिक फेसबुक पेज पर यह जानकारी दी है।

पिछले साल म्यांमार के रखाइन प्रांत में भड़की हिंसा के

बाद करीब सात लाख रोहिंग्या मुस्लिमों को बांग्लादेश में

शरण लेने के लिए मजबूर होना पड़ा था। म्यांमार लौटे पांच

सदस्यीय परिवार में एक आदमी, दो महिलाएं, एक छोटी

लड़की और एक लड़का शामिल है। सरकार ने कहा, ‘यह परिवार

रखाइन प्रांत के तौंगप्योलवेई कस्बे में शनिवार सुबह लौट आया।’

सरकार की ओर से परिवार को हर संभव मदद का भरोसा दिया

गया है। उन्हें मच्छरदानी, चावल, बरतन, कंबल, लुंगी और

रसोई का सामान दिया जा चुका है। इस साल जनवरी में

बांग्लादेश और म्यांमार सरकार ने रो¨हग्या शरणार्थियों की

वापसी की प्रक्रिया शुरू की थी। संयुक्त राष्ट्र शरणार्थी एजेंसी

ने हालांकि बांग्लादेश को चेताया है कि रोहिंग्या शरणार्थियों

को म्यांमार वापस भेजने का यह सही समय नहीं है।पिछले

साल अगस्त में रखाइन में सैन्य चौकियों पर आतंकी हमले के

बाद प्रांत में रोहिंग्या मुस्लिमों के खिलाफ हिंसा भड़क उठी थी।

इसके बाद बड़ी संख्या में रोहिंग्या मुस्लिमों ने भागकर

बांग्लादेश में शरण ली थी। रखाइन में कार्रवाई को लेकर

म्यांमार की सेना पर योजनाबद्ध तरीके से रोहिंग्या मुस्लिमों के दमन का आरोप लगा था। म्यांमार सरकार ने हालांकि इस आरोप को नकार दिया था।

Please follow and like us:

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.