fbpx Press "Enter" to skip to content

पलामू के कुख्यात गैंगस्टर की नाटकीय ढंग से गोली मारकर हत्या

मेदिनीनगरः पलामू के कुख्यात गैंगस्टर को भी अज्ञात अपराधियों ने बिल्कुल फिल्मी

अंदाज में मार डाला। मेदिनीनगर थाना क्षेत्र में बुधवार को अपराधियों ने कुख्यात गैंगस्टर

कुणाल सिंह की गोली मारकर हत्या कर दी। पुलिस सूत्रों ने यहां बताया कि कुणाल सिंह

अपने सुदना अघोर आश्रम स्थित घर से बिस्फुटा की ओर जाने के लिए कार से निकला

था। इसी दौरान विपरीत दिशा से आ रही स्कोर्पियो ने उसके कार में धक्का मार दिया।

इसके बाद अपराधियों ने कुणाल सिंह की गोली मारकर हत्या कर दी। घटना की सूचना

मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया

है। पुलिस अधीक्षक अजय लिंडा ने घटना की पुष्टि करते हुए बताया कि मामले की

छानबीन की जा रही है।अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए मेदिनीनगर सदर अनुमंडल

पुलिस पदाधिकारी के नेतृत्व में विशेष जांच दल (एसआईटी) का गठन किया गया है।

गौरतलब है कि झारखंड-बिहार में कुख्यात आपराधिक गिरोह के सरगना और एक्स आर्मी

मैन कुणाल किशोर सिंह समेत चार अपराधियों को आर्म्स एक्ट के तहत सजा सुनायी

गयी थी। आर्म्स एक्ट के छह साल पुराने मामले में व्यवहार न्यायालय की निचली

अदालत ने इन्हें दोषी करार देते हुए 15 मार्च 2018 को सात-सात साल की सश्रम कारावास

की सजा सुनायी थी। न्यायालय ने सभी को पांच-पांच हजार रुपये का अर्थदंड भी लगाया

था।

पलामू का कुख्यात गैंगस्टर जमानत पर बाहर था

इसी मामले में कुणाल फिलहाल जमानत पर जेल से बाहर था। कुणाल सिंह की ऑल

झारखंड स्टूडेंट्स यूनियन (आजसू) नेता साजिद अहमद सिद्दीकी उर्फ बॉबी खान की हत्या

में संलिप्तता सामने आयी थी, जिसके बाद कुणाल ने अपने साथियों के साथ पलामू के

प्रतिष्ठित व्यवसायी और राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के वरिष्ठ नेता ज्ञानचंद पांडेय के

पोते अभिनव पांडेय का बड़े ही नाटकीय ढंग से अपहरण कर लिया था। इन घटनाओं के

बाद कुणाल सिंह को रांची स्थित आर्मी कैंप से गिरफ्तार किया गया था।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

One Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!