गजल गायकी को नया आयाम दिया पंकज उधास ने

गजल गायक पंकज उधास

संगीत जगत में पंकज उधास एक ऐसे गजल गायक हैं जो अपनी गायकी से पिछले चार दशक से श्रोताओ को मंत्रमुग्ध किए हुए हैं।

 

संगीत जगत में पंकज उधास एक ऐसे गजल गायक हैं जो अपनी गायकी

से पिछले चार दशक से श्रोताओ को मंत्रमुग्ध किए हुए हैं।

पंकज उधास का जन्म 17 मई 1951 को गुजरात के राजकोट के निकट

जेटपुर में जमींदार गुजराती परिवार में हुआ। उनके बड़े भाई मनहर उधास जाने

माने पार्श्वगायक है। घर में संगीत के माहौल से पंकाज उधास की भी रूचि

संगीत की ओर हो गयी। महज सात वर्ष की उम्र से ही पंकज उधास गाना गाने

लगे। उनके इस शौक को उनके बड़े भाई मनहर उधास ने पहचान लिया और उन्हें

इस राह पर चलने के लिये प्रेरित किया। मनहर उधास अक्सर संगीत से जुड़े

कार्यक्रम में हिस्सा लिया करते थे। उन्होंने पंकज उधास को भी अपने साथ शामिल

कर लिया। एक बार पकंज को एक संगीत कार्यक्रम में हिस्सा लेने का मौका मिला

जहां उन्होंने .ए मेरे वतन के लोगों जरा आंख में भर लो पानी ..गीत गाया। इस

गीत को सुनकर श्रोता भाव.विभोर हो उठे। उनमें से एक ने पंकज उधास को

खुश होकर 51 रूपये दिये। इस बीच पंकज उधास राजकोट की संगीत नाट्य

अकादमी से जुड़ गये और तबला बजाना सीखने लगे। कुछ वर्ष के बाद पंकज

उधास का परिवार बेहतर जिंदगी की तलाश में मुंबई आ गया । पंकज उधास ने

अपनी स्नातक की पढ़ाई मुंबई के मशहूर सैंट जेवियर्स कॉलेज से हासिल की ।

इसके बाद उन्होंने स्नाकोत्तर पढ़ाई करने के लिये दाखिला ले लिया लेकिन बाद में उनकी रूचि संगीत की ओर हो गयी और उन्होंने उस्ताद नवरंग जी से संगीत की शिक्षा लेनी शुरू कर दी।

Please follow and like us:

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.