नासा बनाएगा पहला बेआवाज सुपरसोनिक यात्री विमान

नासा
Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
 नासा अब कंपनी लाॅकहीड मार्टिन के साथ आवाज की गति से भी तेज उड़ने वाला (सुपरसोनिक) यात्री विमान बनाने जा रही है।

इस विमान की खासियत होगी कि इतनी तेज स्पीड के बावजूद ये बिल्कुल आवाज (सुपरसोनिक बूम) नहीं करेगा।

अभी तक सुपरसोनिक तकनीक सिर्फ फाइटर प्लेन्स में ही इस्तेमाल होती है।

हालांकि, नासा पहली बार यात्री विमानों में भी ये प्रयोग करना चाहता है।

नासा ने इस प्रोजेक्ट को पूरा करने के लिए लॉकहीड मार्टिन को चुना है।

इसके लिए नासा ने कंपनी को 247.5 मिलियन डॉलर्स (करीब 1600 करोड़ रूपए) का कॉन्ट्रैक्ट भी दिया है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, एक कॉन्ट्रैक्ट के तहत लॉकहीड मार्टिन ने 2016 में

ही इस विमान का डिजाइन तैयार कर लिया था। विमान की लंबाई 94 फीट

के आसपास होगी वहीं विंगस्पैन (पंखों का फैलाव) करीब 29.5 फीट होगा।

डिजाइन के हिसाब से इसका वजन बाकी यात्री विमानों के मुकाबले काफी हल्का, करीब 32 हजार पाउंड्स रहेगा।

लॉकहीड मार्टिन नासा को 2021 के अंत तक विमान का एक प्रोटोटाइप

बनाकर डिलीवर करेगा। नियमों के मुताबिक, अभी दुनिया के ज्यादातर देशों में

सुपरसोनिक फ्लाइट्स की तेज आवाज के चलते इन पर बैन लगा है। हालांकि,

टेस्ट फ्लाइट से नासा ये जानने की कोशिश करेगा कि सुपरसोनिक तकनीक से

नागरिकों को इसकी मौजूदगी का कितना पता चलता है।

माना जा रहा है कि विमान की टेस्टिंग करीब 2025 तक चलेगी, जिसके बाद

इसका डेटा फेडरल एविएशन एडमिनिस्ट्रेशन (एफएए) और इंटरनेशनल सिविल

एविएशन ऑर्गनाइजेशन (आईसीएओ) को भेजा जाएगा और कमर्शियल

सुपरसोनिक फ्लाइट्स के लिए नियमों में संशोधन करने की अपील की जाएगी।

बता दें कि अभी किसी भी आम फ्लाइट को न्यूयॉर्क से दिल्ली (11476 किलोमीटर)

की दूरी तय करने में कम से कम 13-14 घंटे का समय लगता है। हालांकि, यात्री

विमानों में सुपरसोनिक तकनीक आने से ये समय सिर्फ 7 घंटे हो जाएगा।

बताया गया है कि लॉकहीड मार्टिन विमान की स्पीड करीब 1500 किलोमीटर प्रतिघंटा के आसपास रखेगा। साथ ही ये जमीन से 10 मील (55 हजार फीट) की अधिकतम ऊंचाई तक उड़ सकेगा।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.