दिल्ली क्रिकेट के चुनाव में मदनलाल ने 1400-1500 वोट से जीतने का किया दावा

2100-2200 सदस्यों ने हमें पूरा समर्थन देने का आश्वासन दिया

नयी दिल्ली : दिल्ली क्रिकेट संघ के चुनाव में मदनलाल ने अपने पैनल के 1400-1500 वोट से जीतने का दावा किया है।

भारत की 1983 की विश्व कप विजेता टीम के सदस्य मदनलाल का अध्यक्ष पद के लिए मुकाबला वरिष्ठ पत्रकार रजत शर्मा और सुप्रीम कोर्ट के सीनियर एडवोकेट विकास सिंह से है।

दिल्ली के लिए 20 साल खेलने वाले और पांच साल दिल्ली की कप्तानी कर चुके मदनलाल ने बुधवार को मीडिया के सामने अपने पैनल को पेश करते दावा किया कि उनका पैनल चुनावों में 1400-1500 वोटों से शर्तिया जीत हासिल करेगा।

वर्तमान में डीडीसीए चुनावों के लिए 3500 सदस्यों को नामांकित किया गया है और इस साल सदस्यों को वोटिंग के लिए व्यक्तिगत रूप से मौजूद रहना होगा।

मदनलाल ने कहा, हम अब तक 2300 सदस्यों से मिल चुके हैं और 2100-2200 सदस्यों ने हमें पूरा समर्थन देने का आश्वासन दिया है।

हम सदस्यों से घर-घर जाकर मिल रहे हैं और हम उन्हें बता रहे हैं कि उनकी सभी समस्याओं को दूर करेंगे।

मदनलाल ने कहा अब दिल्ली काफी बड़ी हो चुकी है

मदनलाल ने अपनी प्राथमिकताएं बताते हुए कहा, दिल्ली अब काफी बड़ी हो चुकी है और दिल्ली में हमें दो और मैदानों की जरूरत है ताकि हम लीग और अंडर-16 तथा अंडर-17 के मैचों का सुचारू रूप से संचालन कर सकें।

हमें इसके साथ ही स्कूल और लीग क्रिकेट को व्यवस्थित तरीके से चलाना होगा।

पूर्व क्रिकेटर ने अधिकारों को विभिन्न अधिकारियों में बांटने की वकालत करते हुए कहा, हमारे पैनल में तीन महिला उम्मीदवार भी शामिल हैं।

मेरा सिद्धांत है कि कभी भी सारे अधिकार अपने पास नहीं रखो और सबको अपनी-अपनी जिम्मेदारी दो ताकि वे अपने कर्तव्यों को पूरा करें।

ऐसा कर पाने से ही हम सफलतापूर्वक काम कर पाएंगे।

मदनलाल ने सामूहिक जिम्मेदारी पर जोर देते हुए कहा, “मैं 20 साल दिल्ली के लिए खेला, मैंने पांच साल दिल्ली की कप्तानी की, दिल्ली को रणजी और दलीप ट्रॉफी जैसे खिताब जिताये और यह सब कुछ टीम की वजह से ही संभव हो पाया।

इन चुनावों में भी हम टीम की बदौलत जीतेंगे। मेरी टीम ऐसी है जिस पर कोई आरोप नहीं है और यह बेहद साफ-सुथरी टीम है। दिल्ली की क्रिकेट में यदि सुधार लाना है तो ऐसी टीम का आना बहुत जरूरी है तभी हम अपने काम कर पाएंगे।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.