fbpx Press "Enter" to skip to content

तुर्की सीरिया में अपना अभियान जारी रखेगा- एर्दोगन

अंकारा: तुर्की सीरिया के प्रति अपने रुख में कोई बदलाव नहीं करने जा रहा है।

तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तैयप एर्दोगन ने कहा कि वह अमेरिका के प्रतिबंधों से चिंतित नहीं है और वह उत्तरी सीरिया

में अपने अभियान को जारी रखेगा।

श्री एर्दोगन ने मंगलवार को कहा, ‘‘जब तक अभियान सभी निर्धारित लक्ष्यों को प्राप्त नहीं कर लेता, यह जारी रहेगा।

हमारे लक्ष्य स्पष्ट हैं, हम अमेरिकी प्रतिबंधों से चिंतित नहीं है।

हमारा लक्ष्य सीमा से 32 किलोमीटर अंदर स्थित आतंकवादियों को खत्म करने का है।’’

हमने क्षेत्र में समन्वय के लिए अमेरिका और रूस के साथ बातचीत फिलहाल रोक दी है।

श्री एर्दोगन ने कहा, ‘‘मैंने कल अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प से बात की, उन्होंने कहा कि हमें युद्ध विराम

की घोषणा करनी चाहिए लेकिन हम ऐसा नहीं करेंगे। मैंने उनसे कहा कि हम किसी भी आतंकवादी संगठन के साथ

बातचीत नहीं करेंगे।’’ मैंने श्री ट्रम्प से एक प्रतिनिधिमंडल भेजने के लिए कहा ताकि हम सब कुछ पर चर्चा कर सकें।’’

उल्लेखनीय है कि सोमवार को अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने पूर्वोत्तर सीरिया के खिलाफ सैन्य आक्रमण को

रोकने और तत्काल युद्धविराम लागू करने के लिए तुर्की पर दबाव डालने के वास्ते एक कार्यकारी आदेश पर हस्ताक्षर

किये।

अमेरिका ने तुर्की को चेतावनी दी है कि अगर तुर्की पूर्वोत्तर सीरिया में अपने अभियान को आगे बढ़ता है

तो और प्रतिबंधों का सामना करना पड़ सकता है।

तुर्की सीरिया में कर रहा है हमले अनेक कुर्दीस लड़ाके मारे गये

पिछले करीब दो सौ वर्षों से जारी तुर्की वनाम कुर्दीस संघर्ष अभी तेज हो गया है।

इस क्रम में खबर आयी है कि तुर्की के हमले में दो सौ से अधिक कुर्दीस लड़ाके मारे गये हैं।

दूसरी तरफ अन्य देशों को इस बात की चिंता सता रही है कि इस लड़ाई के चक्कर में कहीं सीरिया की जेलों में

बंद हजारों आइएस आतंकवादी बाहर नहीं आ जाएं।

रुस ने पहले ही स्पष्ट कर दिया है कि सीरिया की जेलों में अभी करीब 13 हजार आइएस आतंकवादी कैद हैं।

इस युद्ध जैसी स्थिति की वजह से उनके कभी भी भाग निकलने का खतरा बढ़ गया है।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from आतंकवादMore posts in आतंकवाद »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from रक्षाMore posts in रक्षा »

3 Comments

Leave a Reply

error: Content is protected !!