fbpx Press "Enter" to skip to content

ट्रेन दुर्घटना में बचाव के अभ्यास के तहत हुआ कार्यक्रम

  • जम्मू तवी संबलपुर ट्रेन हुई दुर्घटनाग्रस्त
  • टक्कर में एक बॉगी दूसरी पर चढ़ गयी
  • बचाव दल की सभी इकाइयां सक्रिय हुई
  • ड्रील देखने मे जुटी थी लोगों की भारी भीड़
संवाददाता

रांची : ट्रेन दुर्घटना में बचाव का अभ्यास हटिया में सफलता पूर्वक आयोजित किया गया।

वैसे इस दौरान काफी भीड़ एकत्रित होने की वजह से बचाव दल को अपना काम करने में

थोड़ी दिक्कत हुई। 

वीडियो में देखिये कैसे हुआ ट्रेन एक्सीडेंट का यह मॉक ड्रिल

इस मॉक ड्रील के तहत शुक्रवार को 3:20 में हटिया यार्ड में विंटर स्पेशल ट्रेन जम्मू तवी

संबलपुर ट्रेन संख्या 08310 कि जबरदस्त दुर्घटना हुई | यात्रियों से खचाखच भरी हुई

विंटर स्पेशल ट्रेन की दुर्घटना इतनी जबरदस्त थी कि एक बोगी पर दूसरी बोगी चढ़ गई

थी | जाड़े की मौसम में रांची रेल मंडल के अंतर्गत हटिया यार्ड  में इस तरह की जबरदस्त

दुर्घटना से पूरा रेल महकमा में हड़कंप मच गया | तत्काल रांची रेल मंडल के डी आर एम

नीरज अम्बष्ट अपने अधिकारियों के साथ घटनास्थल पर पहुंचे | भयंकर दुर्घटना की

सूचना पर मंडल रेल प्रबंधक की निर्देश पर मेडिकल रिलीफ, अग्नि शमन को सूचना दी

गई | और तुरंत ही सभी टीम मिलकर राहत और बचाओ कार्य में जुट गए। दुर्घटना स्थल

पर चीख पुकार मची हुई थी। मुख्य रुप से एनडीआरएफ की टीम पहुंचकर दुर्घटनाग्रस्त

ट्रेन मैं फंसे यात्रियों की सहायता के लिए आवश्यक कदम उठाए।

बड़ी दुर्घटना को देखते हुए रेल प्रशासन ने एमरजेंसी फोन लाइन मेडिकल कैंप एंबुलेंस

सहायता केंद्र को तत्काल स्थापित किया और घटना से जुड़ी तमाम पहलुओं पर

आवश्यक कदम उठाए | रेलवे के सभी विभागों ने मिलकर इस रेल दुर्घटना में फंसे

यात्रियों को न सिर्फ बचाया बल्कि गंभीर रुप से घायलो को तत्काल उपचार के लिए

एंबुलेंस के द्वारा हॉस्पिटल ले जाया गया वही मामूली रुप से घायलो का उपचार अस्थाई

कैंप में कुशल डॉक्टरों की नेतृत्व में किया गया ।

रेल दुर्घटना में एक्सप्रेस ट्रेन की एक बॉगी दूसरे पर चढ़ गयी

एक डब्बे पर दूसरे डब्बे के चढ़ जाने के कारण बचाओ कार्य में काफी मुश्किलों का सामना

करना पड़ा बचाओ दाल को । इस दुर्घटना को देखने के लिए भारी संख्या में लोगों की भीड़

जुटी हुई थी जिन्हें कंट्रोल करने के लिए रेलवे के सुरक्षा बल द्वारा घटनास्थल को घेर

दिया गया था और बचाओ कार्य में जुटे टीम को कोई परेशानी ना हो इसके लिए रेलवे

सुरक्षा बल के तीन सहायता कर रही थी | मामूली रुप से घायल छह यात्री गंभीर रुप से

घायल की संख्या 14 और मित्रों की संख्या 11 जिसमें तीन महिलाएं थी ।

रांची रेल मंडल के तरफ से घायलों व मृतकों को सहायता राशि देने की घोषणा की गई।

हटिया यार्ड में इतनी बड़ी दुर्घटना को देखते हुए रेल प्रशासन ने एक जांच दल गठित

कर दुर्घटना से संबंधित तमाम जानकारियों को देने के लिए तत्काल निर्देश दिया |

चूंकि हटिया यार्ड में विंटर स्पेशल ट्रेन जम्मू तवी एक्सप्रेस ट्रेन की दुर्घटना की एक मॉक

ड्रिल रांची रेल मंडल के द्वारा सफलता पूर्वक किया गया | और यह दिखाने के लिए किस

तरह से रेल प्रशासन सजग और सचेत है किसी भी दुर्घटना को लेकर | किस तरह रेलवे के

तमाम विभाग किसी भी दुर्घटना के होने पर त्वरित कार्रवाई करते हैं और राहत और

बचाव कार्य में जुटे हैं

मॉक ड्रिल के माध्यम से लोगों को भी बचाव की जानकारी दी गयी

मॉक ड्रिल की द्वारा यह संदेश भी देने कोशिश की गई रेल प्रशासन की पूरी टीम किस

तरह से एकजुट होकर किसी भी घटना में फंसे यात्रियों को कैसे बचाया जाता है। राहत

और बचाव कार्य में जुटे एनडीआरएफ की टीम की महत्वपूर्ण भूमिका रही। मंडल रेल

प्रबंधक नीरज अंबष्ट ने बताया कि रांची रेल मंडल यात्रियों की सुरक्षा और और सुविधा के

लिए हमेशा तत्पर है।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

3 Comments

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Open chat