झारखंड की डायन प्रथा पर सबसे बड़ी फिल्म है ‘फूलमनिया’

झारखंड की डायन प्रथा पर सबसे बड़ी फिल्म है ‘फूलमनिया’
Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  • झारखंड इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल के ओपनिंग में दिखेगी फिल्म

वरीय संवाददाता

रांची : झारखंड में घटित सच्ची घटना पर आधारित ‘फूलमनिया’ नागपुरी भाषा में बनी

अब तक की सबसे बड़ी और स्तरीय फिल्म कही जा रही है।

इसे हिंदी में भी रिलीज किया जाएगा।

एक तरफ इस फिल्म में डायन प्रथा के खतरनाक खेल को दर्शाया गया है

जो हमारे देश में एक कलंक की तरह फैला हुआ है।

कैसे किसी मासूम लड़की को शादी के तुरंत बाद डायंन बताकर सरे आम गांव से नंगा करके पत्थर मारकर भगा दिया जाता है।

दूसरी ओर हमारे दकियानूसी विचारधारा वाले समाज में किसी औरत का बांझ होना कितना दुखद होता है

उस दर्द को इस फिल्म में बहुत ही गम्भीरता से दिखाया गया है।

एक बांझ औरत के दिल में क्या गुजरता है और अपने ही घरवालों से कैसे उसको बार-बार जलील होना पड़ता है।

इस पर निर्माता निर्देशक लाल विजय शाहदेव ने दमदार स्क्रिप्ट के साथ फिल्म बनाकर समाज को झकझोरने का प्रयास किया है।

इस फिल्म में बेटा और बेटी के भेदभाव को खत्म करने का भी अच्छा संदेश दिया गया है।

फिल्म के प्रोड्यूसर नीतू अग्रवाल ने बताया की इस फिल्म से ना सिर्फ भारतीय फिल्म जगत में बल्कि विश्व में एक उदाहरण पेश होगा।

कैसे एक ज्वलंत समस्या को दिखाते हुए फिल्म को मनोरंजक बनाया जा सकता है।

उन्होंने बताया की फिल्म का मनोरंजक होना बहुत जरूरी है।

फिल्म मेकिंग में आज दुनिया से कॉम्पटिशन करना पड़ता है।

निर्देशक लाल विजय ने बताया कि हमें ये समझना जरूरी है की हम फिल्म किसके लिए बना रहे हैं।

बड़े बड़े फिल्म निमार्ता निर्देशक सिर्फ नंगापन या अश्लीलता को दिखाकर पैसे कमाने में लगे हुए हैं।

फिल्म इंडस्ट्री की हालत ठीक नहीं है।

इंटरनेट ने तो फिल्म इंडस्ट्री की कमर तोड़ कर रख दी है।

कोई भी कुछ भी बनाकर अपने को निर्माता और निर्देशक बताने लगा है।

नागपुरी भाषा में निर्मित फिल्म ‘फूलमनिया’ का चयन 1 फरवरी से शुरू हो रहे झारखंड इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल की ओपनिंग फिल्म के रूप में किया गया है।

रांची और झारखंड के दर्शक इसे 1 फरवरी को 2 बजे दिन में खेलगांव रांची में देख सकते हैं।

फिल्म में ज्यादातर कलाकार और तकनीशियन झारखंड से हैं।

फिल्म की लीड एक्टर कोमल सिंह रांची से है, जिसने ‘फुलमनिया’ का बहुत ही चुनौतीपूर्ण रोल किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.