fbpx Press "Enter" to skip to content

चीनी अधिकारियों के वीजा पर अमेरिकी प्रतिबंध अंतरराष्ट्रीय मानदंड का उल्लंघन







वाशिंगटन: चीनी अधिकारियों के वीजा पर चीन ने त्वरित प्रतिक्रिया दी है।

चीन ने कहा है कि अमेरिकी प्रतिबंध अंतरराष्ट्रीय संबंधों के मानदंड का गंभीर उल्लंघन है

और शिनजिंयाग प्रांत में उइगर मुस्लमानों के मसले का जिक्र करना उसके आतंरिक मामलों

में हस्तक्षेप है।

यहां स्थित चीनी दूतावास ने मंगलवार को ट्वीट कर कहा ,ह्यह्यचीन के कई संगठनों

और कंपनियों को कल काली सूची में डालने के बाद अमेरिका ने मानवाधिकार के बहाने

एक कदम और बढ़ते हुए आज हमारे अधिकारियों के वीजा पर प्रतिबंध लगाने की घोषणा कर दी।

अमेरिका का यह कदम अंतरराष्ट्रीय संबंधों के मूलभूत मानदंड का गंभीर उल्लंघन है

और हमारे आतंरिक मामलों में दखल के साथ-साथ हमारे हितों के लिए नुकसानदायक भी है।

इससे पहले अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने चीन के शिनजियांग प्रांत में 10 लाख से

अधिक मुसलमानों के साथ क्रूर एवं अमानवीय व्यवहार करने और उन्हें बलपूर्वक हिरासत में

रखने को लेकर चीन की सरकार और कम्युनिस्ट पार्टी के अधिकारियों के खिलाफ वीजा संबंधी

प्रतिबंध लगाने की घोषणा की।

श्री पोम्पियो ने ट्वीट किया,  मैं आज चीनी सरकार और कम्युनिस्ट पार्टी के उन अधिकारियों पर

वीजा प्रतिबंध लगाने की घोषणा कर रहा हूं जो शिनजियांग प्रांत में उइगरों, कजाकों,

अथवा अन्य मुसलमान अल्पसंख्यक समूहों को कैद कर उनके साथ क्रूर एवं अमानवीय

व्यवहार करने के लिए जिम्मेदार हैं।

चीनी अधिकारियों पर लगे प्रतिबंध से तनाव और बढ़ा

अमेरिका की ओर से चीन के अधिकारियों पर वीजा संबंधी प्रतिबंध लगाए जाने की घोषणा से

दोनों देशों के बीच तनाव और बढ़ गया है।

अमेरिका ने सोमवार को उइगर मुसलमानों के साथ क्रूर एवं अमानवीय व्यवहार पर चिंता जाहिर

करते हुए चीन की 28 संस्थाओं एवं संगठनों को काली सूची में डालने की सोमवार को घोषणा की।

काली सूची में डाले गये चीन के संगठनों में सरकारी एजेंसियां और सर्विलांस उपकरण बनाने में

माहिर कंपनियां भी शामिल हैं।

अब यह संगठन अमेरिका की अनुमति के बिना उसके उत्पादों को खरीद नहीं सकते।

अमेरिकी वाणिज्य विभाग के मुताबिक काली सूची में डाले गये चीन के संगठन मानवाधिकार

के हनन और दुरुपयोग के मामलों में फंसे हुए हैं।

उल्लेखनीय है कि अमेरिका और चीन के शीर्ष प्रतिनिधियों के बीच गुरुवार 10 अक्टूबर

से व्यापार वार्ता के अगले दौर की वार्ता प्रस्तावित है।



Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

4 Comments

  1. ikinci el eşya alanlar ikinci el eşya alanlar October 13, 2019

    Have you ever thought about writing an e-book or
    guest authoring on other blogs? I have a blog centered on the same topics you discuss and would really like to have
    you share some stories/information. I know my readers would enjoy your
    work. If you are even remotely interested, feel free to send me an e mail.

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.