fbpx

गोमिया के पूर्व विधायक ने पारा शिक्षकों को दिया समाधान का भरोसा

गोमिया के पूर्व विधायक ने पारा शिक्षकों को दिया समाधान का भरोसा

गोमिया: गोमिया के पूर्व विधायक सह झामुमो के केंद्रीय प्रवक्ता योगेंद्र प्रसाद पारा

शिक्षक संघ गोमिया के आग्रह पर सोमवार को गोमिया प्रखंड कार्यालय पहुंचे।

वीडियो में देखिये क्या कहा योगेंद्र प्रसाद ने

2020 में सरकार के एक निर्णय के आलोक में पोर्टल में पारा शिक्षकों का डाटा इंट्री नहीं

होने  से गहरी चिंता में डूबे पारा शिक्षकों की समस्याओं के समाधान को लेकर बीडीओ

सहप्रभारी सीओ कपिल कुमार और बीईओ बीरेंद्र मिश्रा के साथ बैठक की। बैठक में पूर्व

विधायक ने पारा शिक्षकों की चिंता एवं संवेदना से अवगत कराते हुए कहा कि आज करीब

एक वर्ष से पारा शिक्षकों का डाटा पोर्टल में इंट्री नहीं हो सका है। अगर 2008 में पारा

शिक्षकों से संबंधित विवरणी रजिस्टर गुम हुआ पड़ा है तो इसकी जिम्मेवारी बीआरसी की

है न कि पारा शिक्षकों की।गोमिया को छोड़ लगभग पूरे राज्य में डाटा इंट्री कार्य हो चुका

है। लंबे समय से गोमिया के 535 पारा शिक्षक इस मामले में सफर कर रहे हैं और

मानसिक तनाव से गुजर रहे हैं। उन्होंने कहा कि मामले को पेंच में नहीं फंसाकर

व्यक्तिगत शपथ पत्र के आधार पर डाटा इंट्री पोर्टल में किया जाये। इस पर बीडीओ व

बीईओ ने सहमति जताई। साथ में उम्र सीमा की बात पर कहा कि जब पारा शिक्षक वर्षों

पूर्व जॉइन किए तो कोई उम्र सीमा नहीं थी सिर्फ मैटिक पास अहर्ता की शर्त थी। इसलिए

16 व 18 वर्ष की उम्र संबंधित मसले को तकनीकि उलझन करने से बचें। जिसके बाद पूर्व

विधायक, बीडीओ और बीईओ बीआरसी पहुंचे और बीडीओ तथा बीईओ द्वारा पोर्टल में

डाटा इंट्री कार्य शुरू कर दिया गया किंतु इस दौरान पोर्टल खुला रहने का दैनिक निर्धारित

समय पूरा हो जाने से कार्य को आज के लिए स्थगित किया गया।

गोमिया के पूर्व विधायक ने समस्या पर उपायुक्त से भी बात की

इसके बाद पूर्व विधायक ने जिले के उपायुक्त राजेश सिंह से संबंधित विषय पर बात की

और पारा शिक्षकों की वेदना से अवगत कराया। उपायुक्त ने पूर्व विधायक प्रसाद को

आश्वस्त किया है कि गोमिया के सभी 535 पारा शिक्षको का अनुमोदन किया जाएगा और

उन्होंने मंगलवार को पोर्टल में डाटा इंट्री पर पदाधिकारियों की एक बैठक बुलाने पर बल

दिया। जिसके बाद पारा शिक्षकों ने तालियां बजाकर अपनी खुशी का इजहार किया। मौके

पर एकीकृत पारा शिक्षक संघर्ष मोर्चा के अध्यक्ष जितेंद्र प्रसाद, सचिव संदीप प्रसाद, मो

ताजीम, ओमप्रकाश रवानी, रीतलाल महतो, रंजना मिश्रा, सीमा कुमारी, मनोज कुमार

सिंह, महेश मंडल, मो सेराज, सन्नू प्रजापति, प्रकाश महतो, बिहारी चौधरी आदि थे।

ये हेमंत सरकार है, सबके साथ न्याय होगा

एक सवाल पर गोमिया के पूर्व विधायक प्रसाद ने कहा कि पारा शिक्षक गांवों में शिक्षा

व्यवस्था की रीढ़ हैं और वर्षों से अपनी सेवा दे रहे हैं। इनके साथ अन्याय बर्दाश्त नहीं

किया जाएगा। कहा कि अगर भविष्य में तकनीकि पेंच फंसाया गया तो उन

पदाधिकारियों की खैर नहीं होगी। जनता ने व्यवस्था बदला है तो अधिकारियों को

मानसिकता भी बदलनी होगी। ये हेमंत सरकार है, किसी को परेशान होने की जरूरत नहीं

है चाहे वह पारा शिक्षक हों, कृषक हो या आम जनमानस।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
Rkhabar

Rkhabar

... ... ...
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: