Press "Enter" to skip to content

उपचुनाव की घोषणा के साथ ही टिकिट के लिए दावेदारों ने शुरू किये प्रयास







जयपुर : उपचुनाव की घोषणा के साथ ही टिकिट के लिए दावेदारों ने शुरू किये प्रयास  राजस्थान में

वल्लभनगर एवं धरियावद विधानसभा सीटों के लिए उपचुनाव की घोषणा के साथ ही सत्तारूढ़

कांग्रेस पार्टी एवं विपक्ष भारतीय जनता पार्टी भाजपा में टिकिट के लिए दावेदारों ने प्रयास शुरू कर

दिये है। वल्लभनगर सीट से कांग्रेस के विधायक गजेन्द्रंसह शक्तावत एवं धरियावद सीट से भाजपा

विधायक गौतमलाल मीणा के कोरोना से निधन के कारण उपचुनाव हो रहे है। निवार्चन आयोग ने

आगामी 30 अक्टूबर को दोनों सीटों पर मतदान की घोषणा की है। वल्लभनगर सीट से कांग्रेस की

ओर से पूर्व विधायक गजेन्द्रंह शक्तावत की पत्नी प्रीति शक्तावत, गजेन्द्रसिंह शक्तावत के बडे

भाई देवेन्द्रसिंह शक्तावत , भीमसिंह चुंडावत एवं कुबेर चावडा ने दावेदारी पेश की है। कांग्रेस के लिए

परेशानी यह है कि स्वर्गीय गजेन्द्र के बडे भाई देवेन्द्रसिंह शक्तावत ने घोषणा की है कि अगर प्रीति

शक्तावत को टिकिट दिया गया तो वह यहां से निर्दलीय चुनाव लडेंगे। वही वल्लभनगर में भाजपा

की ओर से पिछले विधानसभा चुनाव में प्रत्याषी रहे उदयलाल डांगी एवं वरिष्ठ नेता आकाश

बागरेचा ने दावेदारी पेश की है।

उपचुनाव की घोषणा के साथ इसके अलावा यहां से विधानसभा में प्रतिपक्ष

उपचुनाव की घोषणा के साथ इसके अलावा यहां से विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता गुलाबचंद

कटारिया के धुर विरोधी रहे भाजपा छोडकर जनता सेना बनाने वाले पूर्व विधायक रणधीर  भीेंडर ने

भाजपा और कांग्रेस के समक्ष कडी चुनौती पेश की है। पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के करीबी श्री

भींडर यहां से दो बार विधायक रह चुके है। गत विधानसभा चुनाव में स्वर्गीय शक्तावत से मात्र तीन

हजार वोटो से पराजित हुये थे। भाजपा प्रत्याशी उदयलाल डांगी यहां तीसरे स्थान पर रहे थे।

वल्लभनगर उपचुनाव में इस बार भी त्रिकोणी मुकाबला तय है तथा यह सीट जीतने के लिए कांगेस,

भाजपा और जनता सेना को कडा संघर्ष करना पडेगा। इधर धरियावद विधानसभा सीट से कांग्रेस

की ओर से पूर्व विधायक नगराज मीणा एवं पंचायत समिति में प्रतिपक्ष के नेता नाथुलाल मीणा

टिकिट पाने की दावेदारी कर रहे है। भाजपा की ओर से पूर्व विधायक गौतमलाल मीणा के पुत्र

कन्हैयालाल मीणा एवं भाजपा के वरिष्ठ नेता खेतं सह मीणा ने भी दावेदारी पेश की है। भाजपा यहां

गौतमलाल मीणा के पुत्र कन्हैयालाल मीणा को प्रत्याशी बनाकर सहानुभूति का कार्ड भी खेल सकती

है। धरियावद विधानसभा सीट का कुछ क्षेत्र प्रतापगढ जिले में पडता है और प्रतापगढ के विधायक

रामलाल मीणा का भी इस सीट पर काफी प्रभाव पडेगा। रामलाल मीणा ने हाल ही में प्रतापगढ नगर

पालिका की सभापति को भाजपा छोडकर कांग्रेस पार्टी में ज्वाईन कर काफी उलटफेर किया था।

 



More from HomeMore posts in Home »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from देशMore posts in देश »
More from राज काजMore posts in राज काज »

Be First to Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.