fbpx Press "Enter" to skip to content

आधुनिक सोच के व्यक्ति थे राजीव गांधी – आलमगीर आलम

  • संवाददाता

रांचीः आधुनिक सोच के उस व्यक्तित्व को आज हम और बेहतर तरीके से समझ पा रहे

हैं। देश में सूचना क्रांति के जनक के तौर पर भी स्वर्गीय राजीव गांधी को हमेशा याद किया

जाता रहेगा। पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के 76वी जयंती पर ग्रामीण विकास मंत्री श्री

आलमगीर आलम ने अपने आवासीय कार्यालय में राजीव जी की तस्वीर पर माल्यार्पण

किया एवं उनहे श्रद्धा सुमन अर्पित किये। इस मौके पर उन्होंने राजीव गांधी को याद करते

हुए कहा कि उनके नेतृत्व में देश को विकास की एक नई दिशा मिली थी , जिसने भारत

को 21 वीं सदी के लिए किया तैयार किया था। चाहे वह सूचना क्रांति हो , कंप्यूटर हो ,

आधुनिकरण हो या उद्योगों का विकास हो राजीव जी ने हर क्षेत्र में नई और क्रांतिकारी

पहल की जिसका फायदा आज हमें देखने को मिल रहा है। यह उनकी आधुनिक सोच का

ही परिणाम था कि देश आज इन मोर्चों पर अन्य देशों के मुकाबले काफी आगे निकल

पाया है। वरना उससे पहले देश के गांव की बात तो छोड़ दें शहरो में भी टेलीफोन तक की

सुविधा अपर्याप्त थी। इस सच्चाई से भी कोई इंकार तो नहीं कर सकता  है। 

आधुनिक सोच के काम का असली फायदा तो अभी 

यह सब कार्य करते हुए उन्होंने देश की विरासत और लोकतंत्र को और मजबूत करने का

भी काम किया। पंचायती राज व्यवस्था से ग्रामीण क्षेत्रों की भागीदारी बड़ी एवं हमारे गांव

को भी एक नई आवाज मिली। मौके पर मौजूद पाकुड़ विधानसभा प्रभारी एवं पूर्व

माहासचिव श्री शशी भूषण राय ने भी राजीव गांधी जी को श्रद्धा सुमन अर्पित करते हूए

कहा की , रजीव जी ने वोट देने की आयु 21 वर्ष से 18 वर्ष कीया, इस निर्णय से युवाओं की

भागीदारी लोकतंत्र में बड़ी। उन्होंने पूरे विश्व में शांति एवं सद्भावना का संदेश दिया था ।

[subscribe2]

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from इतिहासMore posts in इतिहास »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from देशMore posts in देश »
More from नेताMore posts in नेता »
More from बयानMore posts in बयान »
More from रांचीMore posts in रांची »
More from राजनीतिMore posts in राजनीति »

2 Comments

... ... ...
%d bloggers like this: