Press "Enter" to skip to content

अलीगंज के एसिड अटैक की पीडिता की हालत अब ठीक




प्रतिनिधि
भागलपुर : अलीगंज की रहने वाली एसिड अटैक की पीडित छात्रा की हालत ठीक है।

वाराणसी में इलाजरत छात्रा ठीक से धीरे-धीरे बात कर रही है और घर वालों के बारे में पूछ रही है

छात्रा के पिता का कहना है कि डॉक्टर अभी कुछ भी बोलने को तैयार नहीं हैं।

एक महीने बाद कुछ बताने की बात डॉक्टर कर रहे।

भागलपुर में उसके परिजनों का कहना है कि वह अब धीरे-धीरे बात कर रही है।

अपने परिवार के सदस्यों के बारे में पूछती है।

इधर छात्रा के परिजनों को प्रशासन की तरफ से एक लाख रुपये मुआवजा दिया गया।

एसिड पीड़िता छात्रा के मामले में कुछ लोग बेवजह पुलिस पर दबाव बना रहे हैं

एक रिटायर आईजी ने कहा कि ऐसे मामले में पुलिस को अनुसंधान में कुछ समय लगता है

दबाव में सही आरोपी पुलिस की पकड़ से बचने की कोशिश करता है

पुलिस इस मामले में कई लोगों से पूछताछ कर रही है।

अभी तक मुख्य अभियुक्त की तलाश जारी है।

अलीगंज कांड के अपराधियों को पकड़ने के लिए वकीलों का प्रदर्शन

गुरुवार को इस मामले को लेकर वकीलों ने धरना प्रदर्शन किया।

इस मामले में और अन्य फरार आरोपी को जल्द से जल्द पकडने की मांग की गयी।

पीड़िता छात्रा के परिवार वालों ने कहा पुलिस की कार्रवाई से संतुष्ट है

जिन लोगों का नाम बताया गया मामले में दो आरोपी की गिरफ्तारी हो गई है

और अन्य लोगों की गिरफ्तारी के लिए भी पुलिस टीम छापामारी कर रही है

इस मामले में सोशल मीडिया पर पुलिस मुख्यालय की नजर कड़ी है।

पीड़िता छात्रा के परिवार के आवास पर पुलिस को सुरक्षा में लगा दिया गया है,

जब से यह घटना घटी है तब से एक अफसर तीन जवान पीड़िता छात्रा के आवास सुरक्षा के लिए तैनात है।

एसिड पीड़िता की सहायता के लिए गुरुवार को जिला प्रशासन ने छात्रा के भाई को

एक लाख की से संबंधित चेक सौंपा।

जिला प्रशासन के एक अधिकारी ने बताया कि सात लाख रुपए तक का मुआवजा देने का नियम है

जिसमें से अभी एक लाख रुपए की मुआवजे की राशि दे दी गई है

डीएम प्रणव कुमार, एसएसपी आशीष भारती ने संयुक्त रूप से लड़की के भाई को चेक दिया

और भरोसा दिलाया कि आगे और भी सहायता राशि किस्तों में प्रदान की जाएगी।

बता दें कि बनारस के अस्पताल में एसिड पीड़िता का इलाज चल रहा है

उसका 45 प्रतिशत शरीर झुलस गया है।

डॉक्टरों ने इलाज में काफी खर्चा बताया है

इस कारण से जिला प्रशासन कई संगठन के लोग उसकी सहायता के लिए आगे आए हैं।

उधर अस्पताल में पीड़िता छात्रा की हालत में धीरे धीरे सुधार हो रहा है।



Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Be First to Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.