Press "Enter" to skip to content

दुबला होने के चक्कर में प्राण को संकट में मत डालिए




  • आपका शरीर बताता है कि आपको क्या चाहिए

  • दुबला होना अच्छा है पर डायट कंट्रोल खतरनाक

  • कैलोरी नियंत्रित करने के कई खतरनाक नतीजे भी हैं

  • आपका शरीर लगातार बताता है कि उसे क्या चाहिए

प्रतिनिधि
नईदिल्लीः दुबला होना भी कई अर्थों में फायदेमंद है।

लेकिन वर्तमान युग के शहरी संस्कृति और आहार की गड़बड़ी से लोग मोटे हो जाते हैं।

परेशानी बढ़ने के बाद ऐसे लोग आनन फानन में दुबला होना चाहते हैं।

इसके लिए उन्हें भोजन को नियंत्रित करना ही सबसे आसान रास्ता नजर आता है।

आम तौर पर दुबला होने के लिए व्यायाम और अन्य तरीके भी हैं

लेकिन आम तौर पर लोग शरीर को कष्ट नहीं देना चाहते।

इस दुबला होने की चाह कई बार आपको गंभीर संकट के दरवाजे पर खड़ी कर देती है।

वैज्ञानिकों ने तमाम पहलुओं की जांच के बाद यह निष्कर्ष निकाला है कि

इस तरीके से सिर्फ भोजन को नियंत्रित कर दुबला होने की कोशिश आपके लिए खतरनाक भी हो सकती है।

लेकिन इसमें चिंता की कोई बात नहीं है।

यह एक ऐसा उपाय है, जिसमें आपका शरीर ही आपको लगातार यह बताता रहता है कि उसे क्या चाहिए और क्या नहीं चाहिए।

इन मुद्दों पर ध्यान देकर भी कोई भी मोटा आदमी अपने भोजन को नियंत्रित कर सकता है और साथ में स्वस्थ भी रह सकता है।

शोध में पाया गया है कि दरअसल दुबला होने की चाहत में लोग अपने भोजन की कैलोरी को ही कम कर देते हैं क्योंकि उसके बारे में लोगों को बेहतर जानकारी पहले से होती है।

इस कैलोरी की कम कर देना ही दुबला होने का एकमात्र रास्ता नहीं है।

दुबला होने अच्छी बात पर अपने शरीर की भाषा भी समझियेदुबला होने के चक्कर में प्राण को संकट में मत डालिए




लेकिन इससे कई परेशानियां भी खड़ी होती है।

शोध में पाया गया है कि

अगर दुबला होने की कोशिश के दौरान आपका पेट लगातार साफ नहीं हो पा रहा है

तो आपको यह समझ लेना चाहिए कि आपके शरीर को आवश्यक कैलोरियों की भारी कमी हो गयी है।

इस संकेत को समझते हुए इंसान को अपने भोजन को और सुधार ला चाहिए।

पेट साफ नहीं होने का अर्थ शरीर में फाइबर की कमी का होना है।

ऐसी स्थिति में शरीर की अधिक फाइबर की जरूरतों को पूरा करने में

आप कम कैलोरी वाले शाक सब्जियों और फलों का इस्तेमाल कर सकते हैं।

इसस आपके शरीर की आंतरिक ऊर्जा जरूरतों की पूर्ति होगी और पेट भी साफ हुआ करेगा।

आप अपने आफिस अथवा घर पर काम के दौरान लगातार थकान और कमजोरी महसूस कर रहे हैं तो यह भी पर्याप्त कैलोरी नहीं मिलने का एक संकेत है।

ऐसी स्थिति में आपको कुछ न कुछ खा लेना चाहिए ताकि शरीर की जरूरत भर कैलोरी पहुंच सके।

इसके लिए बहुत अधिक कैलोरी लेने की भी कोई जरूरत नहीं है।

भारतीय नजरिए से देखें तो सिर्फ चावल दाल से भी यह काम चल सकता है।

आपके बाल अगर इस दौरान अचानक झड़ने लगे तो आपको समझ लेना चाहिए कि

इंसानी बाल के लिए जरूरी पोषण आपके शरीर में नहीं हैं।

इन बालों तो नियमित ऐसा पोषण चाहिए होता है।

जब पोषण नहीं मिलता तो वे झड़ने लगते हैं।

शरीर के अंदर से आने लगते हैं कमियों के स्पष्ट संकेत

किसी डायट प्लान के तहत अगर आपने अपने भोजन को नियंत्रित किया है

तो आपको यह ध्यान भी रहना चाहिए कि कहीं आपको सामान्य परिस्थिति में भी अधिक ठंड तो नहीं लग रही है।

अगर ऐसा हो रहा है तो आपको शरीर को अधिक ऊर्जा देने का प्रबंध करना चाहिए क्योंकि कैलोरी के जलने से ही शरीर को ऊर्जा मिलती है।

जब शरीर में ऊर्जा की कमी हो जाता है तो शरीर का तापमान बाहरी दबाव को नहीं झेल पाता है।

इतना ही नहीं अगर भोजन नियंत्रित करने के दौरान आप अक्सर बीमार पड़ रहे हैं या

फिर आपको लगातार ठंड लगकर सर्दी हो रही है तब भी आपको अपने भोजन को सुधार लेना चाहिए।

सबसे अंत में यह समझ लेना चाहिए कि अगर आपको नींद में दिक्कत हो रही है और हमेशा ही आप गुस्से में हैं तो यह शरीर में पोषण की कमी का ही नतीजा है।

आपका खाली पेट भोजन मांगकर आपको सोने नहीं देता है।

दूसरी तरफ आपको गुस्सा इस वजह से आता है क्योंकि आपका भूखा पेट आपकी ऊर्जा खींच लेता है।

तब नाहक ही आप गुस्सा करने लगते हैं।

स्वास्थ्य से संबंधित अन्य रिपोर्ट भी यहां पढ़े

 



Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

One Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.